क्या बीजेपी को राजस्थान में सत्ता के करीब पहुंचाने में मुसलमानों की भूमिका है ?

Story by  मलिक असगर हाशमी | Published by  [email protected] • 3 Months ago
Do Muslims have a role in bringing BJP closer to power in Rajasthan?
Do Muslims have a role in bringing BJP closer to power in Rajasthan?

 

आवाज द वाॅयस /नई दिल्ली

राजस्थान में कांग्रेस का तंबू उखड़ने और बीजेपी के सत्ता के करीब जाने की तस्वीर साफ बन रही है. ऐसे में दावा किया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश की तरह राजस्थान में भी मुसलमान और मुस्लिम महिलाओं ने भारतीय जनता पार्टी को सत्ता के करीब पहुंचाया है. इस चर्चा को भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद जफर इस्लाम के एक बयान से भी हवा मिली है.

उल्लेखनीय है कि सत्ता और प्रशासन पर हमेशा हावी रहने वाली राजस्थान की पावर फुल मुस्लिम कायमखानी बिरादरी इस बार अशोक गहलोत से खफा चल रही थी. गहलौत की सरकार ने कई बोर्ड और निगमों के पदों पर नियुक्ति में कायमखानी को तरजीह नहीं दी थी. ऐसे में पिछले एक साल से कायमखयानियों का रुझान किसी अन्य पार्टी की ओर बनने लगा था.
 
 इसके अलावा अलवर-भरतपुर के इलाके के दो मुस्लिम युवकों को गोतस्करी के नाम पर गुरुग्राम में जिंदा जलाकर मारने के मामले को लेकर मेव मुसलमान भी गहलोत  सरकार से नाराज चल रहे थे. मेवाती मुसलमानों को गलौत से इस मामले में जिनती कठोर कार्रवाई की उम्मीद थी, नहीं की गई.
 
यहां तक कि इस मामले में जिस का नाम सबसे ऊपर आ रहा था उसे मुख्य आरोपी तक नहीं बनाया गया. इस सबसे राजस्थानी मुसलमान गहलोत सरकार से नाराज चल रहे थे. अशफाक कामखयानी का कहना है कि ये दोनों ऐसे मुद्दे हैं, जो महिलाओं को सीधे प्रभावित करते हैं. 
 
अब से पहले की सरकारों में मुस्लिम महिलाओं को खास तवज्जो दी जाती थी, जबकि गोकशी के नाम पर मोब्लिंचींग जैसे मामले में कठोर कार्रवाई की जाती थी. अजमेर की चिश्ती बिरादरी की महिला एवं हरियाणा के मेवाती भाजपा नेता जाकिर हुसैन ने भी मेवाती महिलाओं को बीजेपी के करीब लाने में मदद की है.
 
जाकिर की एक बहन अलवर से सियासत करती हैं, जो काफी दिनों से कांग्रेस से नाराज चल रही थीं. वह इलाके से विधायक भी रही हैं. इसके अलावा पीएम की योजनाओं ने भी राजस्थान की महिलाओं को प्रभावित किया है.
 
राजस्थान में कुल आबादी के करीब 10 प्रतिशत यानी 63 लाख मुसलमान हैं.भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद जफर इस्लाम ने भी दावा किया है कि मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गारंटी योजनाओं से प्रभावित होकर मुस्लिम महिलाओं ने बड़ी तादाद में भाजपा उम्मीदवारों को वोट किया है.
 
उन्होंने तेलंगाना में हंग असेंबली आने का दावा करते हुए यह भी कहा कि एआईएमआईएम मुखिया असदुद्दीन ओवैसी साफ हो गए हैं.भाजपा राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद जफर इस्लाम ने कहा कि झूठी गारंटी देने वाले कांग्रेस के नेताओं पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गारंटी भारी पड़ गई, जनता ने फिर से प्रधानमंत्री मोदी की गारंटी पर भरोसा जताया.
 
जनता ने एक बार फिर से यह बता दिया है कि अगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल किया जाएगा तो जनता बड़ी तादाद में बाहर निकल कर प्रधानमंत्री को गाली देने वाले नेताओं को सबक सिखाएगी.