इस्लाम में जीवन की अवधारणा ?

Story by  आवाज़ द वॉयस | Published by  [email protected] • 2 Months ago
Concept of life in Islam?
Concept of life in Islam?

 

ईमान सकीना

इस्लाम में एक अच्छी जीवनशैली जीने में कुरान की शिक्षाओं और पैगंबर मुहम्मद (उन पर शांति हो) की सुन्नत (परंपराओं) का पालन करना शामिल है. अच्छी इस्लामी जीवनशैली जीने के लिए यहां कुछ सामान्य दिशानिर्देश दिए गए हैं.

इस्लाम में जीवन की अवधारणा क्या है?

इस्लाम धर्म के चार आधार क्या है?

आस्था (ईमान): अल्लाह (भगवान) में अपना विश्वास मजबूत करें और अल्लाह की एकता में विश्वास करें. आस्था के छह स्तंभों को समझें और उनका अभ्यास करें यानी अल्लाह, फरिश्ते, किताबें, पैगंबर, न्याय का दिन और ईश्वरीय पूर्वनियति में विश्वास.

प्रार्थना (सलाह): पांचों दैनिक प्रार्थनाएं उनके निर्धारित समय पर करें. अपनी प्रार्थनाओं में ईमानदारी विकसित करें और अल्लाह के साथ संबंध पर ध्यान केंद्रित करें.

दान (जकात और सदका): जकात (अनिवार्य दान) के संबंध में अपने दायित्वों को पूरा करें और जब भी संभव हो अतिरिक्त स्वैच्छिक दान (सदक़ा) दें. जरूरतमंदों की मदद करें और समुदाय के कल्याण में योगदान दें.

उपवास (सावम): रमजान के महीने में रोजा रखें. इस महीने को आत्म-अनुशासन, आत्म-चिंतन और बढ़ी हुई भक्ति के अवसर के रूप में उपयोग करें.

तीर्थयात्रा (हज): यदि आर्थिक और शारीरिक रूप से सक्षम हैं, तो जीवन में कम से कम एक बार मक्का की तीर्थयात्रा करें.

नैतिकताः जीवन के सभी पहलुओं में उच्च नैतिक और नैतिक मानकों को कायम रखें. झूठ बोलना, धोखा देना, चुगली करना और किसी भी अन्य पापपूर्ण व्यवहार से बचें.

सम्मान और दयालुताः दूसरों के साथ सम्मान और दयालुता से व्यवहार करें, चाहे उनका धर्म, जाति या सामाजिक स्थिति कुछ भी हो. मजबूत पारिवारिक संबंधों को बनाए रखें और अपने माता-पिता, भाई-बहनों और रिश्तेदारों के साथ अच्छा व्यवहार करें.

शालीन पोशाक पहनेंः विशेष रूप से महिलाओं के लिए, शरीर को ढककर और यदि लागू हो, तो हिजाब पहनकर, शालीन पोशाक मानकों का पालन करें.

स्वस्थ जीवन शैलीः संतुलित आहार और नियमित व्यायाम सहित स्वस्थ जीवन शैली के माध्यम से अपने शारीरिक स्वास्थ्य का ख्याल रखें.

शिक्षाः जीवन भर ज्ञान और शिक्षा की तलाश करें. सीखने और बौद्धिक जिज्ञासा की संस्कृति को प्रोत्साहित करें.

कार्य नीतिः जीविकोपार्जन के लिए वैध और नैतिक कार्य में संलग्न रहें. अपने पेशेवर जीवन में ईमानदार और मेहनती रहें.

कृतज्ञताः आपके पास जो आशीर्वाद है, उसके लिए आभारी रहें और अल्लाह का आभार व्यक्त करें. उन कम भाग्यशाली लोगों की मदद करने के लिए अपने संसाधनों और क्षमताओं का उपयोग करें.

धैर्य और दृढ़ताः धैर्य और दृढ़ता के साथ चुनौतियों का सामना करें. अल्लाह की बुद्धि पर भरोसा रखें और कठिन समय में उस पर भरोसा रखें.

quran

इस्लाम में एक अच्छा जीवन कैसे है?

इस्लाम ने हमें कुछ नैतिक सिद्धांत दिए हैं, जिनका पालन हममें से प्रत्येक को अपने जीवन में करना चाहिए, ताकि हम अपने धर्म का सर्वोत्तम तरीके से प्रतिनिधित्व कर सकें और इसके बाद दुनिया में उचित इनाम प्राप्त कर सकें. एक धर्म से अधिक, इस्लाम जीवन जीने का एक संपूर्ण और व्यापक तरीका है, जो संतुलित जीवन शैली की ओर ले जाता है. इस्लामी सिद्धांत और शिक्षाएं व्यक्तिगत, पारिवारिक, सामाजिक और अंतर्राष्ट्रीय समस्याओं की रोकथाम के लिए यथार्थवादी, निष्पक्ष और वस्तुनिष्ठ समाधान प्रदान कर सकते हैं, जो दुनिया भर में मानव समुदायों के अस्तित्व को खतरे में डाल रही हैं. इस्लाम जीवन जीने का एक तरीका है, जिसे हममें से हर किसी को अपने जीवन में लागू करना चाहिए और इस्लाम के प्रमुख सिद्धांतों के अनुसार शांतिपूर्ण और खुशहाल जीवन जी सकते हैं.

इस्लाम के अनुसार हमें क्या करना चाहिए?

याद रखें कि इस्लाम एक व्यापक जीवन पद्धति है और ये सिद्धांत आपस में जुड़े हुए हैं. एक अच्छी इस्लामी जीवनशैली जीने में एक समग्र दृष्टिकोण शामिल होता है, जो जीवन के आध्यात्मिक, नैतिक, सामाजिक और भौतिक पहलुओं को शामिल करता है. निरंतर ज्ञान प्राप्त करना, आत्म-सुधार के लिए प्रयास करना और कमियों के लिए क्षमा मांगना महत्वपूर्ण है.

 

ये भी पढ़ें :  Exclusive : ले.जनरल सैयद अता हसनैन बोले, पीएम मोदी मजदूरों को बचाने के लिए रोजाना छह बार फोन करते थे
ये भी पढ़ें :  हावड़ा: बारात घर की आमदनी से चल रहा सर सैयद अहमद हाई स्कूल