भारतीय-अमेरिकियों की साख बढ़ी, चार सांसद प्रमुख हाउस समितियों में नामित

Story by  राकेश चौरासिया | Published by  [email protected] • 1 Years ago
भारतीय-अमेरिकियों की साख बढ़ी, चार सांसद प्रमुख हाउस समितियों में नामित
भारतीय-अमेरिकियों की साख बढ़ी, चार सांसद प्रमुख हाउस समितियों में नामित

 

 
 
वाशिंगटन. चार भारतीय-अमेरिकी सांसदों राजा कृष्णमूर्ति, प्रमिला जयपाल, अमी बेरा और रो खन्ना को प्रमुख अमेरिकी सदन समितियों के सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया है, जो अमेरिकी राजनीति में समुदाय के बढ़ते प्रभाव को दर्शाता है. 

कांग्रेसी कृष्णमूर्ति को बुधवार (स्थानीय समय) पर संयुक्त राज्य अमेरिका और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी (सीसीपी) के बीच रणनीतिक प्रतिस्पर्धा पर सदन की चयन समिति में रैंकिंग सदस्य के रूप में नियुक्त किया गया था. कृष्णमूर्ति ने कहा, ‘‘संयुक्त राज्य अमेरिका और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के बीच रणनीतिक प्रतिस्पर्धा पर सदन की चयन समिति में रैंकिंग सदस्य के रूप में मुझे नियुक्त करने के लिए मैं लीडर जेफरीज का आभारी हूं.’’
 
कृष्णमूर्ति ने आगे कहा कि चीन संयुक्त राज्य अमेरिका और दुनिया भर में लोकतंत्र और समृद्धि के लिए गंभीर आर्थिक और सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करता है, जो ताइवान के लोकतंत्र के खिलाफ उसके खतरों, टिकटॉक के हथियारीकरण और अमेरिकी बुद्धिजीवियों के अरबों डॉलर मूल्य की संपत्ति चोरी से स्पष्ट होता है. 
 
कृष्णमूर्ति ने कहा, ‘‘मैं सीसीपी की बढ़ती आक्रामकता का प्रतिकार करने के लिए इस समिति में दोनों पक्षों में अपने सहयोगियों के साथ काम करने और यह सुनिश्चित करने के लिए उत्सुक हूं कि हमारा देश उन आर्थिक और सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए तैयार है जो सीसीपी हमारे देश के सामने पेश करती है.’’
 
एक अन्य भारतीय-अमेरिकी कांग्रेसी खन्ना को भी इस नई समिति का सदस्य बनाया गया है, जिसका गठन रिपब्लिकन हाउस के अध्यक्ष केविन मैक्कार्थी द्वारा 118वीं कांग्रेस में संयुक्त राज्य अमेरिका की आर्थिक, तकनीकी और सुरक्षा प्रतिस्पर्धा को संबोधित करने के लिए जांच और नीति विकसित करने के विशिष्ट उद्देश्य के लिए किया गया था. 
 
खन्ना ने कहा, ‘‘मैं संयुक्त राज्य अमेरिका और चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के बीच सामरिक प्रतिस्पर्धा पर प्रवर समिति में नियुक्त होने पर सम्मानित महसूस कर रहा हूं.’’ ‘‘मैं चीन के साथ हमारे व्यापार घाटे पर ध्यान देने के लिए समिति में अपनी सीट का उपयोग करने की योजना बना रहा हूं, साथ ही चीन ताइवान के लिए सुरक्षा जोखिम को दूर करने के लिए भी काम कर रहा हूं.’’
 
खन्ना ने कहा, ‘‘मैं महाद्वीपीय संयुक्त राज्य अमेरिका में एकमात्र बहुसंख्यक एशियाई अमेरिकी समुदाय के प्रतिनिधि के रूप में अपनी भूमिका को बहुत गंभीरता से लेता हूं. हम एशियाई-विरोधी नस्लवाद और एशियाई अमेरिकी समुदाय को लक्षित घृणा अपराधों में वृद्धि की असमान रूप से निंदा करते हुए चीनी कम्युनिस्ट पार्टी पर सख्त हो सकते हैं.’’
 
भारतीय-अमेरिकी अमेरिकी प्रतिनिधि प्रमिला जयपाल को आव्रजन अखंडता, सुरक्षा और प्रवर्तन पर सदन न्यायपालिका समिति की उपसमिति का रैंकिंग सदस्य नामित किया गया है, जिससे वह उपसमिति के लिए नेतृत्व की भूमिका निभाने वाली पहली अप्रवासी बन गई हैं. जयपाल ने एक प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘‘अमेरिकी प्रतिनिधि सभा के लिए चुनी गई पहली दक्षिण एशियाई महिला और कांग्रेस में केवल दो दर्जन प्राकृतिक नागरिकों में से एक के रूप में, मैं आप्रवासन अखंडता, सुरक्षा और प्रवर्तन पर हाउस उपसमिति के रैंकिंग सदस्य के रूप में सेवा करने के लिए सम्मानित और सम्मानित महसूस कर रही हूं.’’
 
मीडिया विज्ञप्ति में कहा गया है कि जयपाल रिकॉर्डेड समिति के इतिहास में इस उपसमिति के रैंकिंग सदस्य या अध्यक्ष के रूप में सेवा करने वाले पहले अप्रवासी हैं. इसे ‘बेहद सार्थक’ कहते हुए, जयपाल ने मीडिया विज्ञप्ति में कहा कि वह अब सुई और हाल ही में टूटी हुई आव्रजन प्रणाली को गरिमा, मानवता और न्याय के आसपास बेहतर ढंग से स्थानांतरित करने की स्थिति में होगी.
 
आव्रजन अखंडता, सुरक्षा और प्रवर्तन पर उपसमिति की अध्यक्षता टॉम मैक्लिंटॉक करेंगे और इसका अधिकार क्षेत्र आप्रवासन कानून और नीति, प्राकृतिककरण, सीमा सुरक्षा, शरणार्थी प्रवेश, गैर-सीमा अप्रवास प्रवर्तन और अन्य विभिन्न मुद्दों पर होगा. जबकि भारतीय-अमेरिकी कांग्रेसी अमी बेरा को 118वीं कांग्रेस के लिए प्रभावशाली यूएस हाउस परमानेंट सेलेक्ट कमेटी ऑन इंटेलिजेंस का सदस्य नियुक्त किया गया था. खुफिया समिति पर केंद्रीय खुफिया एजेंसी (सीआईए), राष्ट्रीय खुफिया निदेशक (डीएनआई) के कार्यालय, राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) और सैन्य खुफिया कार्यक्रमों सहित देश की खुफिया गतिविधियों की निगरानी करने का आरोप है.
 
बेरा ने प्रेस विज्ञप्ति में कहा, ‘‘हाउस इंटेलिजेंस कमेटी में काम करने के लिए लीडर जेफरीज द्वारा नियुक्त किए जाने पर मैं सम्मानित महसूस कर रहा हूं, जो संयुक्त राज्य अमेरिका की सुरक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है.’’ उन्होंने आगे कहा, ‘‘देश और विदेश दोनों में बढ़ते खतरों के समय, मैं इस नई भूमिका को गंभीरता से लेता हूं और अमेरिकी परिवारों की सुरक्षा और बचाव के लिए मुझे सौंपी गई जिम्मेदारी को भी लेता हूं.’’
 
बेरा ने जोर देकर कहा कि वह यह सुनिश्चित करने के लिए समिति के सदस्यों के साथ काम करने के लिए उत्सुक हैं कि अमेरिका की खुफिया एजेंसियां राष्ट्र को सुरक्षित रखने के लिए प्रभावी ढंग से काम करें. बेरा ने आगे कहा, ‘‘महत्वपूर्ण राष्ट्रीय सुरक्षा मुद्दों पर काम करने के अपने दशक के अनुभव के साथ, मैं यह सुनिश्चित करने के लिए कि हमारी खुफिया एजेंसियां हमारे देश को सुरक्षित रखने के लिए प्रभावी ढंग से काम कर रही हैं, दोनों तरफ से समिति के सदस्यों के साथ काम करने की उम्मीद है.’’ अमेरिकी कांग्रेसी अमी बेरा हाउस फॉरेन अफेयर्स कमेटी और हाउस साइंस, स्पेस एंड टेक्नोलॉजी कमेटी में भी काम करते हैं.