क़ुर्बानी का अज़ीम जज़्बा सिखाता है, ईद-उल-अज़हा