कॉमनवेल्थ गेम्स 2022: केवल पांच मुस्लिम खिलाड़ी ही क्यों?