कलाम साहब में थी इंसानों की परख