यह वो ‘आवाज ’ है जो जहालत दूरने, मानवता, सच्चाई को बढ़ावा देने के लिए कह रही हैः महमूद मदनी