पीएम मोदी अमेरिका के तीन दिवसीय दौरे पर रवाना

Story by  मलिक असगर हाशमी | Published by  [email protected] • 1 Years ago
क्वाड लीडर्स समिट
 
अपडेट

आवाज द वाॅयस / नई दिल्ली 
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को संयुक्त राज्य अमेरिका की तीन दिवसीय यात्रा पर रवाना हो गए, जहां वह संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे. क्वाड शिखर सम्मेलन में भाग लेंगे और साथ ही द्विपक्षीय बैठक भी करेंगे.
 
व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात का कार्यक्रम भी है.बाइडेन 24 सितंबर को व्हाइट हाउस में पीएम मोदी की मेजबानी करेंगे. 20 जनवरी को बाइडेन के अमेरिकी राष्ट्रपति के रूप में पदभार संभालने के बाद दोनों नेताओं के बीच यह पहली व्यक्तिगत बैठक होने जा रही है. 
 
 
आवाज द वाॅयस /नई दिल्ली 
 
प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी क्वाड लीडर्स समिट में भाग लेने के लिए बुधवार को अमेरिका की अपनी तीन दिवसीय यात्रा पर रवाना होंगे. वे उच्च स्तरीय बैठक को संबोधित करेंगे.संयुक्त राष्ट्र महासभा के अलावा व्हाइट हाउस में अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ द्विपक्षीय बैठक में भी भाग लेेंगे.
 
कार्यक्रम के मुख्य तत्व अमेरिकी नेतृत्व के साथ द्विपक्षीय बैठकें, क्वाड लीडर्स समिट में भागीदारी, संयुक्त राष्ट्र महासभा में संबोधन और व्यावसायिक बातचीत है.पीएम मोदी के साथ विदेश मंत्री एस जयशंकर और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल सहित एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल भी जाएगा.
 
विदेश सचिव हर्ष वी श्रृंगला ने कहा कि अपनी आगामी अमेरिकी यात्रा के दौरान, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन 24 सितंबर को एक द्विपक्षीय बैठक में अफगानिस्तान में हाल के घटनाक्रम के बाद वर्तमान क्षेत्रीय सुरक्षा स्थिति पर चर्चा करेंगे. ‘कट्टरपंथ, उग्रवाद, सीमा पार आतंकवाद और वैश्विक आतंकवादी नेटवर्क को खत्म करने‘ आदि विषयों पर चर्चा होगी.
 
बाइडेन पहली बार व्यक्तिगत रूप से क्वाड लीडर्स शिखर सम्मेलन की मेजबानी करेंगे जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, ऑस्ट्रेलियाई प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापानी प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा शामिल होंगे.क्वाड चार समान विचारधारा वाले देशों (भारत, अमेरिका, जापान और ऑस्ट्रेलिया) के बीच एक मुक्त खुले और समावेशी इंडो-पैसिफिक क्षेत्र के लिए प्रयास करने, सामान्य हितों की खोज में एक साझेदारी है.
 
चारों नेता क्षेत्रीय स्थिति और उभरती चुनौतियों पर विचार और दृष्टिकोण साझा करेंगे. इसमें दक्षिण एशिया और भारत-प्रशांत क्षेत्र में कोविड को शामिल करने के लिए एक साथ काम करना भी है.उभरती प्रौद्योगिकियों के लिए एक आम दृष्टिकोण विकसित करने और जलवायु के समस्याओं का समाधान भी बैठक में निकाला जाएगा. शिखर सम्मेलन में कोविड-19 वैक्सीन साझेदारी में हुई प्रगति का जायजा लिया जाएगा. वे सहयोग के नए क्षेत्रों की पहचान करेंगे. 
 
25 सितंबर को, पीएम मोदी अपने 76 वें सत्र में संयुक्त राष्ट्र महासभा को संबोधित करेंगे. ऐसा करने वाले सरकार के पहले प्रमुख होंगे. इस वर्ष की सामान्य बहस का विषय है‘कोविड से उबरने की आशा के माध्यम से लचीलापन का निर्माण,‘ ‘स्थिरता का पुनर्निर्माण,‘ ‘ जरूरतों का जवाब,‘ ‘ अधिकारों का सम्मान‘ और ‘संयुक्त राष्ट्र को पुनर्जीवित.‘
 
संयुक्त राष्ट्र महासभा के 76वें सत्र को संबोधित करते हुए, प्रधानमंत्री क्षेत्रीय स्थिति, सीमा पार आतंकवाद, कोविड-19 का मुकाबला करने के वैश्विक प्रयास और जलवायु परिवर्तन तथा बहुपक्षीय संस्थानों में सुधार की आवश्यकता सहित महत्वपूर्ण मुद्दों पर ध्यान दिलाएंगे.
 
पड़ोस से परे प्रधानमंत्री की यह पहली विदेश यात्रा होगी. उन्होंने इस साल मार्च में बांग्लादेश की एक संक्षिप्त यात्रा की थी.