मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज:ग़रीब छात्रों के लिए एक बेहतरीन संस्थान

Story by  आवाज़ द वॉयस | Published by  onikamaheshwari • 9 Months ago
मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज:ग़रीब छात्रों के लिए एक बेहतरीन संस्थान
मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज:ग़रीब छात्रों के लिए एक बेहतरीन संस्थान

 

फ़िरदौस ख़ान
 
मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज हरियाणा के प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थानों में से एक है. यह छात्रों को व्यावहारिक मार्गदर्शन प्रदान करता है और उन्हें अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में सहायता करता है.
 
हरियाणा वक़्फ़ बोर्ड द्वारा साल 2010 में नूह ज़िले के गांव पल्ला में इसकी स्थापना की गई थी. नूह मुख्यालय से इसकी दूरी तक़रीबन छह किलोमीटर है. यह संस्थान रोहतक के महर्षि दयानन्द विश्वविद्यालय से संबद्ध है. यह सहशिक्षा का संस्थान है. इस संस्थान में हरियाणा के अलावा देश के विभिन्न राज्यों के छात्र भी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं.
 
 
 
उद्देश्य 
 
मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज का मुख्य उद्देश्य छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षण व प्रशिक्षण प्रदान करते हुए उन्हें  विशेषज्ञ इंजीनियरों और कुशल वैज्ञानिकों के रूप में विकसित करना है. साथ ही एक ऐसे तकनीकी संस्थान का विकास करना है, जो तकनीकी शिक्षण विधियों के लिए नई परिभाषाएं और रणनीति अपनाए.
 
संस्थान के पास प्रशिक्षण और शिक्षण की सर्वोच्चता सुनिश्चित करने की दृष्टि है. इस संस्थान के संकाय सदस्य अपने क्षेत्र में अत्यधिक कुशल व उन्नत विधियों का इस्तेमाल करके छात्रों को व्यावहारिक प्रशिक्षण प्रदान करते हैं. 
 
संस्थान के बुनियादी मूल्यों में शैक्षणिक अखंडता और जवाबदेही शामिल है. इसके साथ ही नवोदित इंजीनियरों और वैज्ञानिकों के रूप में छात्रों का सम्मान करना, नवाचार और उद्यमिता की ओर एक यात्रा शुरू करना तथा • बौद्धिक उत्कृष्टता और रचनात्मकता की सराहना करना भी इसमें शामिल है.
 
 
पाठ्यक्रम 
 
यह कॉलेज सिविल इंजीनियरिंग, एप्लाइड साइंस, कंप्यूटर साइंस, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन, मैकेनिकल और इलेक्ट्रिकल एंड इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग में बीई/बीटेक में अंडरग्रेजुएट कोर्स प्रदान करता है.
 
पुरस्कार 
 
मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज को इसके उत्कृष्ट कार्यों के लिए अनेक पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है. संस्थान ने इंजीनियरिंग में कई पुरस्कार हासिल किए हैं. इसे सराहनीय अकादमिक रिकॉर्ड के लिए भी पुरस्कृत किया गया है. 
 
 
सुविधाएं
 
तक़रीबन 28 एकड़ ज़मीन पर बने इस कॉलेज परिसर में छात्रों के लिए वह सब सुविधाएं मुहैया करवाई गई हैं, जिनकी उन्हें ज़रूरत है. यहां प्रयोगशालाएं हैं. कंप्यूटर सेंटर है. जिम है. विशेष कक्षाओं का इंतज़ाम है. विभिन्न विषयों की पुस्तकों से सुसज्जित पुस्तकालय है. पढ़ने के लिए बड़ा हॉल है. खेलकूद के लिए भी परिसर है. वाई फ़ाई की सुविधा भी है.
 
छात्र-छात्राओं के लिए छात्रावास की सुविधा है. छात्रावास में मैस भी है. यहां चौबीस घंटे पानी की सप्लाई रहती है. साफ़-सुथरे कमरे हैं और उनमें ज़रूरत का सारा फ़र्नीचर है. छात्रों के लिए चिकित्सा सुविधाएं भी उपलब्ध हैं. यहां परिवहन का भी इंतज़ाम है.    
 
छात्रवृत्ति 
 
मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज में मेधावी छात्र-छात्राओं के लिए छात्रवृत्ति की सुविधा भी उपलब्ध है. इनमें मेरिट कम स्कॉलरशिप, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति और अन्य पिछड़ा वर्ग के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति की सुविधा है. इसके अलावा छात्र-छात्राओं को हरियाणा वक़्फ़ छात्रवृत्ति, इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन छात्रवृत्ति और राष्ट्रीय विकलांग छात्रवृत्ति भी प्रदान की जाती है.
  
हरियाणा वक़्फ़ बोर्ड के प्रशासक ज़ाकिर हुसैन के मुताबिक़ पिछले साल मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज में मौजूदा सत्र में कॉलेज ऑफ़ फ़ार्मेसी (वक़्फ़) के नाम से बी फ़ार्मा, डी फ़ार्मा और एएनएम के कोर्सेज़ को शुरू करने की मंज़ूरी दी गई थी. कॉलेज को नेशनल बोर्ड ऑफ़ एक्रीडिटेशन (एनबीए) से संबद्ध करने की मंज़ूरी भी दी गई थी. इससे
 
भविष्य में कॉलेज में नये-नये डिप्लोमा कोर्सेज़ और एमटेक प्रोग्राम भी शुरू किए जा सकेंगे.
 
इससे छात्रों को नौकरी में प्लेसमेंट कराने में आसानी होगी और कॉलेज की अहमियत भी बढ़ेगी. कॉलेज में कौशल विकास योजना के तहत कोर्स शुरू करने की भी मंज़ूरी दी गई है. मेवात इलाक़े के बच्चों के उज्ज्वल भविष्य और कॉलेज की बेहतरी के लिए इसमें GATE, NEET, SSC, HSSC आदि की मुफ़्त कोचिंग शुरू करने की मंज़ूरी भी दी गई है. इससे छात्रों को बहुत फ़ायदा होगा.   
 
 
 
वक़्फ़ बोर्ड के प्रशासक ज़ाकिर हुसैन का कहना है कि हम सभी जानते हैं कि भारत गांवों का देश है. हमारी 75 फ़ीसद आबादी ग्रामीण क्षेत्रों में रहती है. हमारा मानना है कि एक शैक्षिक संस्थान के लिए उसका मुख्य उद्देश्य बच्चों को न केवल किसी विशेष क्षेत्र में कौशल प्रदान करना है, बल्कि उसे एक अच्छे इंसान के रूप में संवारना भी उसका दायित्व है.
 
हरियाणा वक़्फ़ बोर्ड का प्राथमिक उद्देश्य राज्य में मुस्लिम अल्पसंख्यक तबक़े के विकास और कल्याण के लिए इस्तेमाल की जाने वाली आय सृजन के ख़ातिर वक़्फ़ अधिनियम-1995 के प्रावधान के मुताबिक़ वक़्फ़ संपत्तियों का प्रबंधन करना है. बोर्ड का मुख्य फ़ोकस मुस्लिम समुदाय की शिक्षा पर है. यह देश के अन्य अल्पसंख्यक संस्थानों की तरह सभी समुदायों के लिए खुला है. यहां सभी समुदायों के छात्र शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं.
 
हमारा उद्देश्य विभिन्न प्रकार की छात्रवृत्तियों की मदद से ग़रीब और वंचित छात्रों को दाख़िला देकर उन्हें सशक्त बनाना है. इस कॉलेज में 75 फ़ीसद छात्र समाज के निम्न आर्थिक तबक़े के हैं. यह निश्चित रूप से हरियाणा वक़्फ़ बोर्ड द्वारा हमारे योग्य अनुभवी और समर्पित संकाय के माध्यम से ग्रामीण छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने की दिशा में किए गए प्रयासों को दर्शाता है.
 
हमने सिर्फ़ 225 छात्रों के साथ इस कॉलेज की शुरुआत की थी और आज हमारे यहां 600 से ज़्यादा छात्र हैं. हमारे पास निकट भविष्य में और विकास व विस्तार की योजना है. अगर आपको अपने बच्चों के भविष्य की फ़िक्र है, तो याद रखें कि हम यहां मदद करने के लिए ही हैं. यहां का स्टाफ़ बहुत अच्छा व मित्रवत है. अगर आप अपने बच्चों को यहां दाख़िला दिलाना चाहते हैं, तो आपके लिए कॉलेज का दौरा उपयोगी साबित हो सकता है. यह आपके लिए एक बेहतरीन मौक़ा है कि आप कॉलेज का काम देखें और पता करें कि हम अपने सभी छात्रों के लिए उच्च गुणवत्ता वाली शिक्षा कैसे प्रदान करते हैं.
 
 
संस्थान के प्रोफ़ेसर वसीम अकरम के मुताबिक़ 70 फ़ीसद अंक हासिल करने वाले छात्रों की ट्यूशन फ़ीस माफ़ कर दी जाती है, जबकि 80 फ़ीसद अंक हासिल करने वाले छात्रों की आधी फ़ीस माफ़ कर दी जाती है. ग़रीब तबक़े के बच्चों के लिए यह एक बेहतरीन संस्थान है. 
 
मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज में दाख़िले के लिए संपर्क करें
मेवात इंजीनियरिंग कॉलेज द्वारा संचालित किए जा रहे विभिन्न पाठ्यकर्मों के दाख़िले के लिए ऑफ़लाइन और ऑनलाइन दोनों ही तरीक़ों से आवेदन किया जा सकता है. यहां प्रवेश परीक्षा के आधार पर दाख़िला होता है.
 
इच्छुक छात्र-छात्राएं दूरभाष नम्बर 9717524636, 9625855594, 9050816883, 9812437896 पर संपर्क कर सकते हैं. इसके अलावा अधिक जानकारी के लिए यहां क्लिक करें.