एशियन एलीट बॉक्सिंग : अल्फिया ने फाइनल में बनाई जगह

Story by  एटीवी | Published by  mahas[email protected] • 2 Months ago
एशियन एलीट बॉक्सिंग : लवलीना, अल्फिया ने फाइनल में बनाई जगह

नई दिल्ली.

टोक्यो ओलंपिक कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन और एलोर्डा कप चैंपियन 2022 अल्फिया पठान दोनों ने बुधवार को जॉर्डन में एएसबीसी एशियाई एलीट बॉक्सिंग चैंपियनशिप 2022 के फाइनल में अपनी जगह पक्की करने के लिए दमदार प्रदर्शन किया.

लवलीना (75 किग्रा) अपने सेमीफाइनल मुकाबले में दक्षिण कोरिया की सेओंग सुयोन के खिलाफ शुरू से ही दमदार रहीं, लवलीना ने अपनी तकनीकों और रणनीतियों का प्रभावी ढंग से उपयोग करके अपने प्रतिद्वंद्वी को 5-0 की जीत हासिल की.

तीन राउंड के दौरान, असम में जन्मी मुक्केबाज ने दक्षिण कोरियाई पर हावी होने के लिए अपनी अपार ताकत और बेहतर तकनीकी गुणों का प्रदर्शन किया और उन्हें मैच में वापसी करने का कोई मौका नहीं दिया.

लवलीना, जिनके नाम दो एशियाई चैंपियनशिप कांस्य पदक हैं, अब इस सीजन में एक रजत की गारंटी है, जो प्रतियोगिता में उनके अब तक के सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की पुष्टि करती है. लवलीना के साथ, अल्फिया पठान (81 प्लस किग्रा) भी सेमीफाइनल में जीत की, क्योंकि उन्होंने कजाकिस्तान की 2016 विश्व चैंपियन लज्जत कुंगेइबायेवा को सर्वसम्मत निर्णय से 5-0 से हराया.

इस साल यह दूसरी बार है जब अल्फिया ने लज्जत को हराया है, जिसने 2021 यूथ बॉक्सिंग चैंपियन की सीनियर अंतरराष्ट्रीय डेब्यू प्रतियोगिता में एलोर्डा कप में अपने ही मैदान पर कजाख को पछाड़ दिया था. दोनों मुक्केबाज देश को स्वर्ण दिलाने के लिए अपना सब कुछ देंगे, क्योंकि लवलीना 2021 एशियाई चैंपियनशिप की रजत पदक विजेता रुजमेतोवा सोखीबा से भिड़ेंगी जबकि अल्फिया फाइनल में जॉर्डन के इस्लाम हुसैली के साथ आमने-सामने होंगी.

अन्य सेमीफाइनल में अंकुशिता बोरो (66 किग्रा) उज्बेकिस्तान की खामिदोवा नवबखोर से 1-4 हारकर प्रतियोगिता से बाहर हो गईं और टूर्नामेंट में अब तक के अपने उल्लेखनीय प्रयासों के लिए कांस्य हासिल किया.

2017 यूथ बॉक्सिंग चैंपियन ने अपने ऊजार्वान दृष्टिकोण के साथ अच्छी शुरुआत की और खामिडोवा पर बढ़त बनाने के लिए त्वरित मुक्के मारे, लेकिन उज्बेक मुक्केबाज ने अगले दो राउंड में अच्छी वापसी की और जीत हासिल करने के साथ-साथ फाइनल में अपनी जगह बनाई.

बाद में बुधवार को, मीनाक्षी (52 किग्रा), प्रीति (57 किग्रा), परवीन (63 किग्रा), और स्वीटी (81 किग्रा) सभी अपने-अपने सेमीफाइनल मुकाबलों के लिए रिंग में उतरी। प्रतिष्ठित टूर्नामेंट के इस साल के सीजन में भारत की कुल पदक संख्या 12 है, जो सभी प्रतिस्पर्धी देशों में तीसरी सबसे बड़ी है.

गुरुवार के बाद छह बार के एशियाई पदक विजेता शिव थापा (63.5 किग्रा) और दो बार के राष्ट्रमंडल कांस्य पदक विजेता मोहम्मद हुसामुद्दीन (57 किग्रा) सहित पांच भारतीय पुरुष मुक्केबाज सेमीफाइनल में भिड़ेंगे.