बुद्धिजीवियों और विद्वानों ने सांप्रदायिक सौहार्द के लिए अजीत डोभाल की पहल को बताया काबिलेतारीफ