कांग्रेस के दिवंगत नेता अहमद पटेल की बेटी ने बताया आखिर क्यों नहीं लड़ा विधानसभा चुनाव?

Story by  ओनिका माहेश्वरी | Published by  onikamaheshwari • 1 Months ago
कांग्रेस के दिवंगत नेता अहमद पटेल की बेटी ने बताया आखिर क्यों नहीं लड़ा विधानसभा चुनाव?
आवाज द वॉयस/ नई दिल्ली 
 
गुजरात में विधानसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग जारी है. पहले चरण में आज 19 जिलों की 89 सीटों पर मतदान हो रहा है. प्रदेश में बीजेपी 27 साल से सत्ता में है और इस बार भी वापसी के लिए पूरा जोर लगा रही है. वहीं कांग्रेस पार्टी संघर्ष करती दिख रही है. आम आदमी पार्टी के आने से इस बार मुकाबला त्रिकोणीय होता हुआ नजर आ रहा है. 
 
पिछले करीब तीन दशकों में ये पहला चुनाव है जब कांग्रेस पार्टी अपने सबसे दिग्गज नेता अहमद पटेल (Ahmed Patel) के बिना चुनावी मैदान में है. पिछले साल कोरोना की वजह से अहमद पटेल का निधन हो गया था. अहमद पटेल की राजनीतिक विरासत को उनकी बेटी मुमताज पटेल संभाल रही है. माना जा रहा था कि मुमताज अपने पिता की सीट से चुनावी मैदान में उतरेंगी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. 
 
मुमताज ने क्यों नहीं लड़ा चुनाव
 
अब मुमताज ने खुद मीडिया को बताया है कि आखिर उन्होंने क्यों विधानसभा चुनाव नहीं लड़ा? विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने के सवाल पर मुमताज ने कहा, "अभी मैं चीजों को देख और समझ रही हूं. जब मैं सारी चीजों को देख और समझ लूंगी, तब जनता के बीच जाऊंगी और उसके बाद मैदान में आऊंगी." यह पूछे जाने पर कि क्या वह लोकसभा चुनाव लड़ेंगी? उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनावों में अभी वक्त है, एक साल बाद देखते हैं.
 
गुजरात में आम आदमी पार्टी कहीं नहीं है- मुमताब
 
दिल्ली के बाद पंजाब में सरकार बनाने के बाद से आम आदमी पार्टी के हौंसले बुलंद हैं. केजरीवाल की निगाहें अब गुजरात में टिकी हैं. गुजरात फतह के लिए खूब पसीना बहाने में लगे हैं. उनका दावा है कि इस बार गुजरात में आम आदमी पार्टी की पूर्ण बहुमत से सरकार बनने जा रही है. हालांकि मुमताज पटेल ने केजरीवाल के दावों की हवा निकाल दी. मुमताब ने कहा कि गुजरात में आम आदमी पार्टी कहीं नहीं हैं.
 
नड्डा ने की वोट डालने की अपील
 
बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने गुजरात के लोगों से विकास के लिए वोट करने की अपील की. नड्डा ने कहा, "आज गुजरात में प्रथम चरण का मतदान है. मैं सभी भाइयों-बहनों से अपील करता हूं कि प्रदेश में शांति, विकास व समृद्धि के लिए भारी संख्या में मतदान करें, यह प्रगति का प्रमुख स्तंभ है. लोकतंत्र के इस महापर्व में आपकी भागीदारी विकसित गुजरात के निर्माण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी."