अगले वित्त वर्ष में महंगाई 4.5 प्रतिशत रहने का अनुमान: आरबीआई

Story by  राकेश चौरासिया | Published by  [email protected] • 11 Months ago
अगले वित्त वर्ष में  महंगाई 4.5 प्रतिशत रहने का अनुमान: आरबीआई

नयी दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने आगामी वित्त वर्ष के लिए खुदरा महंगाई दर के 4.5 प्रतिशत रहने का अनुमान जताया है. आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की द्विमासिक बैठक के निर्णयों की जानकारी देते हुए रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि यह अनुमान अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों के अनुसार जताया गया है. उन्होंने बताया कि कच्चे तेल की कीमतें भविष्य में क्या होंगी, इसी के विश्लेषण के आधार पर अगले वित्त वर्ष के लिए खुदरा महंगाई दर का अनुमान किया गया है.

 

आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति की चालू वित्त वर्ष की छठी और अंतिम बैठक गुरुवार को समाप्त हुई. पहले यह बैठक सात फरवरी से आयोजित होनी थी लेकिन भारत रत्न लता मंगेशकर के निधन के बाद महाराष्ट्र सरकार द्वारा सात फरवरी को सार्वजनिक अवकाश घोषित किये जाने से यह बैठक आठ फरवरी से शुरू हुई.

 

शक्तिकांत दास ने बताया कि आगामी वित्त वर्ष की पहली तिमाही में खुदरा महंगाई दर के 4.9 प्रतिशत, दूसरी तिमाही में पांच प्रतिशत, तीसरी तिमाही में चार प्रतिशत और चौथी तिमाही में 4.2 प्रतिशत रहने का अनुमान है.

 

गौरतलब है कि रूस और यूक्रेन के बीच जारी विवाद और कई अन्य वैश्विक कारणों से अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें हाल में कई साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच गयीं थीं. मौजूदा समय में अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चा तेल 90 डॉलर प्रति बैरल पर है जबकि दिसंबर में इसके दाम 75 डॉलर प्रति बैरल थे.