पाकिस्तानी भाषा बोलने पर भारतीयों में गुस्सा, ट्रेंड किया #BoycottHyundai

Story by  राकेश चौरासिया | Published by  [email protected] • 1 Years ago
#BoycottHyundai

राकेश चैरसिया /नई दिल्ली

भारतीय लोगों में ऑटो माबाइल कंपनी हुंडई के लिए जबरदस्त रोष छा गया है. पाकिस्तान की हुंडई ने पाकिस्तानी सरकार के सुर में सुर मिलाते हुए एक ट्वीट किया है, जिससे भारतीयों में उबाल आया हुआ है. भारतीय हुंडई कारों के बहिष्कार (#BoycottHyundai) की मांग कर रहे हैं.

माजरा यह है कि ऑटोमोबाइल कंपनी हुंडई ने आज दोपहर ट्विटर पर खुद को हुंडई-पाकिस्तान के हैशटैग #BoycottHyundai के साथ ट्रेंड करते हुए पाया. ट्वीट में लिखा था, ‘आइए हम अपने कश्मीरी भाइयों के बलिदान को याद करें और उनके समर्थन में खड़े हों, क्योंकि वे आजादी की लड़ाई जारी रखे हुए हैं.’ कंपनी ने 5 फरवरी को भी यही ट्वीट किया था. हालांकि अब यह ट्वीट हटा लिया गया है.

https://www.hindi.awazthevoice.in/upload/news/164415993012_Indians_angry_for_speaking_Pakistani_language,_trended_BoycottHyundai_1.jpg

दरअसल, पाकिस्तान पांच फरवरी को ‘कश्मीर एकजुटता दिवस’ मनाता है और इस दिन पाकिस्तानी नेता और हुक्मरां भारत के खिलाफ आग उगलते हैं. कश्मीरियों को भड़काने की कोशिश करते हैं. ऐसे नाजुक मुद्दे पर हुंडई द्वारा ट्वीट किया जाना भारतीयों को अखर गया है.

अभिषेक अस्थाना नाम के यूजर ने ब्रांड्स को राजनीति में दखल देने की जरूरत पर सवाल उठाया.

 

कुछ उपयोगकर्ताओं ने अनुमान लगाया कि क्या कंपनी ने ऐसा इसलिए किया, क्योंकि उसे पाकिस्तान में एक उच्च बाजार क्षमता दिखाई देती है. यह देखना दिलचस्प होगा कि यह #Hyundai-India के लिए भारतीय बाजार को कैसे प्रभावित होगा.

 

एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘हुंडई पाकिस्तान के लिए अगर कश्मीर में स्वतंत्रता संग्राम चल रहा है, तो भारतीय हुंडई की कार खरीदने के बारे में फिर से विचार करेंगे. भारतीय इसे ऐसे नहीं छोड़ सकते.’

एक अन्य यूजर ने कहा कि क्या आपके कर्मचारियों को आधिकारिक हैंडल के माध्यम से ऐसे राजनीतिक पोस्ट करने की अनुमति है? यदि हां, तो निश्चित रूप से आपको भारतीय बाजार में बने रहने के लिए कुछ सुधार की जरूरत है. अगर नहीं, तो उनके खिलाफ उचित कार्रवाई करें और माफी मांगें!!!

श्रुति नाम की यूजर ने लिखा, ‘पाक के लिए आजाद कश्मीर? सच में हुंडई, तुम्हारी पोस्ट पर शर्म आती है. इस हुंडई का बहिष्कार ( #BoycottHyundai ) करने का समय आ गया है. उस भिखारी देश में ही रहो और तुम भी भिखारी बन जाओ.’

एक यूजर ने लिखा, ‘कश्मीर पर स्टैंड पूछने वाले लोगों को ब्लॉक करना और यह मत भूलना कि नेटफ्लिक्स और फैबइंडिया ने भी भारतीयों की भावनाओं के साथ खेलने की कोशिश थी, उसके बाद उनका क्या हाल हुआ था.’

बता दें कि सोशल मीडिया पर ‘हुंडई पाकिस्तान’ ने नेटिजन्स का आक्रोश को देखते हुए अब इस पोस्ट को ट्विटर से डिलीट कर दिया गया है. लेकिन इंस्टाग्राम पर अभी भी यह पोस्ट है.

हुंडई इंडिया सवाल कर रहे लोगों को कर रही ब्लॉक

इस पूरे प्रकरण में यह दिलचस्प है कि हुंडई इंडिया का हुंडई पाकिस्तान से कोई लेना-देना नहीं (कंपनी एक है, लेकिन अलग-अलग देश के कारण अलग-अलग बिजनेस मॉडल, अलग-अलग अधिकारी) है, फिर भी वो इस मुद्दे पर अभी तक चुप्पी साधे हुए है.

सोशल मीडिया पर जो लोग हुंडई इंडिया से सवाल कर रहे हैं, उनको कश्मीर मसले पर अपनी बात रखने के बजाय कंपनी ब्लॉक कर रही है. अप्रत्यक्ष तौर पर इसे कश्मीर पर हुंडई पाकिस्तान का ही पक्ष माना जाएगा. यही कारण है कि भारत में लोग ट्विटर पर #BoycottHyundai को ट्रेंड करवा रहे हैं.