अफगान लोगों को कैसा जीवन चाहिये?