शाहबाज शरीफ बने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री, पहले फैसले में मजदूरी और पेंशन बढ़ाई

Story by  एटीवी | Published by  [email protected] • 9 Months ago
शाहबाज शरीफ

आवाज- द वॉयस/ एजेंसी

पीएमएल-एन के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ पाकिस्तान के नए प्रधानमंत्री बन गए हैं. उन्होंने सोमवार शाम को प्रधानमंत्री पद की शपथ ली.

इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के पीएम चुनाव का बहिष्कार किए जाने के बाद 174सांसदों ने शाहबाज शरीफ के पक्ष में मतदान किया. इसके बाद पीएमएल-एन के अध्यक्ष शहबाज शरीफ को पाकिस्तान के 23वें प्रधानमंत्री चुन लिया गया.

अपने पीएम बनने के बाद शाहबाज ने कुछ नीतिगत फैसले लिए हैं, जो मूल रूप से अर्थव्यवस्था और विदेश नीति से जुड़े हैं

-1 अप्रैल से न्यूनतम मजूदरी 25,000 रुपए

-1 अप्रैल से पेंशन में 10 फीसद की बढ़ोतरी

-रमजान पैकेज के रूप में आटा कम कीमतों पर दिया जाएगा

-बिजली की दरें कम की जाएंगी

-छोटे राज्यों में बच्चों को तकनीकी शिक्षा और लैपटॉप दिया जाएगा

-चीन, सऊदी अरब, यूएई, ब्रिटने और ईरान से रिश्ते प्रगाढ़ बनाए जाएंगे

-कश्मीर विवाद हल होने की दशा में ही भारत के साथ अच्छे रिश्ते मुमकिन

-कश्मीर, फिलीस्तीन और अफगानिस्तान पर आवाज उठाई जाएगी

-इमरान खान के विदेशी ताकतों वाले आरोप की जांच कराई जाएगी

उधर, शाम में संसद में प्रधानमंत्री चुनने की प्रक्रिया के दौरान पीटीआई के सांसद शाह महमूद कुरैशी के साथ हॉल से बाहर चले गए थे. कुरैशी प्रधानमंत्री पद के लिए पीटीआई के उम्मीदवार थे. कुरैशी ने घोषणा की कि उनकी पार्टी के सांसद सामूहिक रूप से इस्तीफा दे देंगे.

फवाद चौधरी ने कहा कि इमरान खान के निर्देश के अनुसार, कोई भी पीटीआई विधायक पीएम के चुनाव में मतदान नहीं करेगा और उसके बाद, पीटीआई के एमएनए अपना इस्तीफा नेशनल असेंबली स्पीकर को भेजेंगे.

एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि सदन से सामूहिक रूप से इस्तीफा देने के फैसले पर मतभेद था, लेकिन संसदीय दल ने इमरान खान को यह निर्णय लेने का अधिकार दिया, जिन्होंने इस्तीफे के पक्ष में फैसला किया.

इमरान खान ने दावा किया कि पीएमएल-एन प्रमुख शहबाज शरीफ के खिलाफ भ्रष्टाचार के दो बड़े मामले हैं और उन्हें पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के रूप में चुनना 'देश का सबसे बड़ा अपमान' होगा.

हालांकि, पीएम पद की शपथ लेने के बाद शाहबाज शरीफ ने पाकिस्तान को बचाने के लिए अल्लाह का शुक्र अदा किया.