इटलीः राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने पीओके में पाक प्रायोजित आतंकवाद की निंदा की

Story by  एटीवी | Published by  [email protected] • 22 d ago
Italy: Political activists condemn Pak-sponsored terrorism in PoK
Italy: Political activists condemn Pak-sponsored terrorism in PoK

 

टोरिनो, इटली.यूनाइटेड कश्मीर पीपुल्स नेशनल पार्टी (यूकेपीएनपी) ने पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में पाकिस्तान प्रायोजित आतंकवाद के खिलाफ इटली के टोरिनो में एक सेमिनार आयोजित किया और वहां आतंकवादी बुनियादी ढांचे को खत्म करने की मांग की.

रविवार को आयोजित सेमिनार का शीर्षक ‘रणनीतिक परिप्रेक्ष्यः वर्तमान स्थिति एवं वास्तविकताएं और भविष्य की संभावनाएं’ और जम्मू कश्मीर के पाकिस्तानी कब्जे वाले क्षेत्रों में आकांक्षाएं और समाधान था.  सेमिनार में यूकेपीएनपी ने पीओके के आतंकी ढांचे पर चर्चा करते हुए उन्हें खत्म करने की मांग की. प्रतिभागियों ने पाकिस्तान की चाल और रणनीति पर भी हमला बोला.

पीओके के निर्वासित राजनीतिक नेता और यूकेपीएनपी के संस्थापक शौकत अली कश्मीरी ने कहा, ‘‘शांति के बिना, आप अपने बच्चों को शिक्षित नहीं कर सकते. शांति के बिना, आप अपने लोगों को सम्मान नहीं दे सकते. यदि आप बंदूकधारियों के कृत्यों का महिमामंडन करेंगे, तो वे ऐसा करेंगे, क्षेत्र पर शासन करेंगे, वे निर्णय निर्माता बन जाएंगे.’’

यूकेपीएनपी के विदेश मामलों के सचिव जमील मकसूद ने कहा, ‘‘हम शांति चाहते, हैं लेकिन पाक समर्थित लोग तलवारें और बंदूकें उठाने की बात करते हैं.’’ राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने यह भी कहा कि पाकिस्तान क्षेत्र में शांति बनाए रखने में ‘बाधाएं’ पैदा कर रहा है.

जमील ने कहा, ‘‘सबसे पहले, हमें टेलीविजन, रेडियो, नाटकों और फिल्मों के माध्यम से पाकिस्तान द्वारा किए जा रहे दुष्प्रचार का मुकाबला करना होगा. पाकिस्तान लोगों को भ्रमित और गुमराह करना चाहता है. इसका मुकाबला करने के लिए हमें जम्मू-कश्मीर के इतिहास की जानकारी होनी चाहिए.’’

सेमिनार में प्रतिभागियों ने पीओके की मौजूदा स्थिति की तुलना भारत के केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर से की. यूकेपीएनपी के अध्यक्ष कामरान अयूब ने कहा, ‘‘भारत द्वारा शासित कश्मीर का हिस्सा पाकिस्तान द्वारा नियंत्रित हिस्से की तुलना में 100 गुना बेहतर है. भारतीय पक्ष में, हम देख सकते हैं कि जी20 का आयोजन किया गया था. यहां हमारे प्राकृतिक संसाधनों को लूटा जा रहा है.’’

हाल ही में, दुनिया के विभिन्न हिस्सों में राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने पाक अधिकृत कश्मीर में जन अधिकार आंदोलन के साथ एकजुटता दिखाते हुए विरोध प्रदर्शन किया.

निर्वासित कश्मीरियों और राजनीतिक कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान में मनाए जाने वाले 6कश्मीर एकजुटता दिवस’ का विरोध किया. उन्होंने पीओके के मुख्य मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए इस आयोजन को ‘प्रचार’ बताया.

ये दल अवामी एक्शन कमेटी के साथ अपनी एकजुटता व्यक्त कर रहे हैं, जो पाक अधिकृत कश्मीर में मौलिक अधिकारों की मांग कर रही है. यूकेपीएनपी ने पाक अधिकृत कश्मीर में अन्याय और अभावों पर सेमिनार आयोजित करने के लिए इटली में अपनी इकाई भी बनाई है.

 

ये भी पढ़ें :  मोहम्मद अली : कभी खुद ट्रेनर थे आज विदेशों में देते हैं ट्रेनिंग