विधायिका को कानूनों पर फिर से विचार करे और अनुकूल बनाएः प्रधान न्यायाधीश