यूक्रेन में इतने बड़े जोखिम से क्या मिलेगा रूस को ?