आखिरकार लग ही गया भोपाल की शाही मोती मस्जिद में साने का ‘कलश’

Story by  मलिक असगर हाशमी | Published by  [email protected] • 1 Months ago
आखिरकार लग ही गया भोपाल की शाही मोती मस्जिद में साने का ‘कलश’
गुलाम कादिर/ भोपाल
 
आखिरकार उलेमा की मौजूदगी मंे भोपाल की ऐतिहासिक शाही मोती मस्जिद के गुंबद पर सोने का कटोरा स्थापित कर दिया गया. दरअसल, करीब दो महीने पहले 5 से 6 अक्टूबर की रात ऐतिहासिक मोती मस्जिद के गुंबद से सोने के कलश की चोरी हो गई थी. 

शाही अकाफ के अधिकारियों को मस्जिद के गुंबद से सोने के कलश चोरी होने की जानकारी मीडिया से मिली, जिसके बाद उन्होंने भोपाल के तालिया थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई.
 
मस्जिद के गुंबद से सोने का कलश चुराने वाले शख्स को भोपाल पुलिस और क्राइम ब्रांच ने संयुक्त रूप से बिहार से गिरफ्तार किया. मस्जिद का गुंबद बरामद होने के बाद इसे फिर से शहर काजी सैयद मुश्ताक अली नदवी और अन्य धार्मिक विद्वानों की उपस्थिति में गुंबद पर स्थापित कर दिया गया. फिर नमाज अदा की गई.
 
मोती मस्जिद का इतिहास

ध्यान रहे कि भोपाल की शाही मोती मस्जिद का निर्माण भोपाल की दूसरी महिला नवाब सिकंदर जहां बेगम के शासनकाल में दिल्ली जामा मस्जिद की शैली में लाल पत्थरों से शुरू किया गया था, लेकिन मस्जिद का निर्माण उनके जीवनकाल में पूरा नहीं हो पाया था.
 
नवाब सिकंदर जहां बेगम की मृत्यु के बाद, उनकी बेटी और भोपाल की तीसरी महिला शासक नवाब शाहजहां बेगम के शासनकाल में मस्जिद का निर्माण पूरा हुआ. इसमें सफेद संगमरमर का काम नवाब शाहजहां बेगम ने करवाया और मस्जिद के गुंबद पर सोने के कलश लगवाए गए, जिन्हें दो महीने पहले चोरों ने उड़ा दिया था.
 
पुलिस अधिकारी सम्मानित

शाही मस्जिद के गुंबद पर सोने के प्याले की पुनः स्थापना के अवसर पर जहां शहर काजी व अन्य धर्मावलंबियों द्वारा पुलिस विभाग के अधिकारियों को  सम्मानित किया गया.
 
इस संबंध में भोपाल शहर काजी सैयद मुश्ताक अली नदवी ने  कहा कि पुलिस विभाग व अन्य लोगों की मशक्कत से चोरी हुआ सामान बरामद किया गया और उसे फिर से लगाया गया है.
 
इसके साथ ही उन्होंने सुझाव दिया कि मस्जिद में ऐसी व्यवस्था की जाए कि भविष्य ऐसी घटना दोबारा न हो, न केवल शाही मस्जिद में, बल्कि किसी भी मस्जिद में.
 
मस्जिद में लगे कैमरे

शहर काजी ने कहा कि आज हमारे लिए बहुत खुशी का दिन है कि मस्जिद का गुंबद फिर स्थापित कर दिया गया. उन्होंने बताया कि मस्जिद में चोरी की घटना के बाद अंदूरी हिस्से, मीनार और मिहराब पर हाई रेजोल्यूशन कैमरे लगाए गए हैं.
 
भविष्य में ऐसी अप्रिय घटना दोबारा न हो, इसके लिए भी इंतजाम किया जा रहा है.वहीं, भोपाल के डीसीपी रियाज इकबाल ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि भोपाल की प्राचीन मस्जिद से एक सोने का कलश चोरी हो गया था जो करीब सवा सौ साल पुराना है.
 
यह मामला पुलिस के लिए काफी चुनौतीपूर्ण था. क्राइम ब्रांच, कोतवाली व तलिया थाने की टीम ने संयुक्त प्रयास कर आरोपी को बिहार व नेपाल की सीमा से गिरफ्तार कर कलाश बरामद किया.
 
आज शहर काजी की उपस्थिति में यह कलश दोबारा लगा दिया गया. शाही अकाफ द्वारा पुलिस टीम को सम्मानित भी किया गया. यह हमारे लिए भी खुशी का अवसर है कि समाज के लोग पुलिस के प्रदर्शन को पसंद कर रहे हैं.