मुसलमान घृणा और हिंसा नहीं, संविधान में यकीन रखेंः मुफ्ती मंजूर जिया