लगातार दूसरे दिन भारतीय शेयर बाजार ने तेजी का बनाया नया रिकार्ड

Story by  एटीवी | Published by  [email protected] • 1 Months ago
लगातार दूसरे दिन भारतीय शेयर बाजार ने तेजी का बनाया नया रिकार्ड

मुंबई. भारतीय शेयर बाजारों में लगातार दूसरे दिन तेजी रही और मंगलवार को बीएसई का सेंसेक्स और एनएसई का निफ्टी रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गया. बीएसई का सेंसेक्स मंगलवार को 62,362.08 अंक पर खुलने के बाद 62,877.73 अंक की रिकॉर्ड ऊंचाई को छू गया और दिन के दौरान 62,362.08 अंक के निचले स्तर को छू गया. सेंसेक्स 177.04 अंकों की तेजी के साथ 62,681.84 अंक पर बंद हुआ. 

सोमवार को सेंसेक्स 62,701.40 के अब तक के उच्चतम स्तर को छूने के बाद 62,504.80 अंक पर बंद हुआ था. एनएसई पर निफ्टी पहले 18,562.75 अंक पर बंद होने के बाद मंगलवार को 18,552.45 अंक पर खुला था. फिर निफ्टी 18,659.75 अंक की तेजी के साथ 18,552.15 अंक के निचले स्तर को छुआ और 18,618.05 अंक पर बंद हुआ.

एक्सिस सिक्योरिटीज के मुख्य निवेश अधिकारी नवीन कुलकर्णी ने कहा, "दूसरी छमाही में रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंचने के बाद भी भारतीय बाजार सकारात्मक बढ़त के साथ बंद हुए. जिन क्षेत्रों ने अच्छा प्रदर्शन किया उनमें एफएमसीजी शामिल है, जहां बाजार अब सकल मार्जिन पर कम दबाव में मूल्य निर्धारण कर रहा है क्योंकि पैकेजिंग और कृषि कीमतों के 2023 की दूसरी तिमाही के उच्च स्तर से कम होने की उम्मीद है. चीनी नियामकों द्वारा संपत्ति डेवलपर्स के लिए वित्तपोषण को आसान बनाने के बाद धातुओं ने भी अच्छा प्रदर्शन किया, इस कदम से धातुओं की मांग को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है."

मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के रिटेल रिसर्च प्रमुख सिद्धार्थ खेमका ने कहा, "वैश्विक विपरीत परिस्थितियों के बावजूद घरेलू इक्विटी ने मजबूत कैरेक्टर दिखाया है क्योंकि उन्होंने लगातार छठे दिन बढ़त हासिल की और नई ऊंचाई बनाई. जबकि अपनी प्रतिगामी कोविड नीतियों के लिए चीन में आंदोलन के कारण दिन की शुरुआत में वैश्विक संकेत नकारात्मक थे. निफ्टी गिरावट के साथ खुला लेकिन जल्द ही नई ऊंचाई बनाने के लिए रफ्तार पकड़ ली. अंत में इंडेक्स 55 अंकों की बढ़त के साथ 18,618 के स्तर पर बंद हुआ. एफएमसीजी, मेटल्स और फार्मा सेक्टर में एक्शन देखने को मिला. ग्रामीण मांग में सुधार और तेल की कीमतों में गिरावट के कारण एफएमसीजी शेयरों में खरीदारी देखी गई."

आनंद राठी शेयर्स एंड स्टॉक ब्रोकर्स के हेड फंडामेंटल रिसर्च- इन्वेस्टमेंट सर्विसेज, नरेंद्र सोलंकी ने कहा, "चीन द्वारा बड़ों के लिए टीकाकरण को प्रोत्साहित करने वाली खबरों के बाद समग्र एशियाई बाजारों में सकारात्मक रुख के बाद भारतीय बाजार सकारात्मक नोट पर खुले, जिन्हें छिटपुट लॉकडाउन के बाद अर्थव्यवस्था को फिर से खोलने के लिए महत्वपूर्ण देखा जा रहा है."

सोलंकी ने कहा कि धारणा आशावादी बनी हुई है क्योंकि आंकड़ों से पता चलता है कि विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने नवंबर के महीने में अब तक भारतीय शेयर बाजारों में 32,344 करोड़ रुपये का निवेश किया है और फिर से शुद्ध खरीदार बन गए हैं. चॉइस ब्रोकिंग के अनुसार, निफ्टी ने पहली बार 18,650 को पार किया और लगातार छठे सत्र के लिए एक अपट्रेंड बनाए रखा, साथ ही साथ लगातार पांचवें सत्र के लिए उच्चतम स्तर बनाए रखा. सेंसेक्स 0.28 प्रतिशत बढ़कर 62,681.84 पर, जबकि निफ्टी 0.30 प्रतिशत बढ़कर 18,618.05 पर पहुंच गया.