शव ढोने के लिए उप्र का यह मुस्लिम त्याग देता है रोजा