जब पगड़ी और बिंदी की अनुमति है तो फिर हिजाब की क्यों नहीं: कर्नाटक हाईकोर्ट में वकील