'चोरों' का गुलाम बनने से मरना बेहतर है : इमरान खान

Story by  एटीवी | Published by  [email protected] • 3 Months ago
'चोरों' का गुलाम बनने से मरना बेहतर है : इमरान खान

इस्लामाबाद. पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के अध्यक्ष इमरान खान के नेतृत्व में सरकार विरोधी लॉन्ग मार्च गुरुवार को सातवें दिन भी जारी रहा. ऐसे में यह अनुमान लगाया जा रहा है कि रैली राजधानी में कब प्रवेश कर सकती है. द न्यूज ने बताया कि पहले योजना 4 नवंबर तक इस्लामाबाद तक पहुंचने की थी, जिसे बाद में 8-9 नवंबर और फिर 11 नवंबर कर दिया गया.

मार्च में शामिल लोगों को संबोधित करते हुए इमरान खान ने कहा, हमारा आंदोलन अगले 10 महीनों तक चुनाव की तारीख की घोषणा होने तक जारी रहेगा. हम इन चोरों को कभी स्वीकार नहीं करेंगे. उन्होंने कहा कि चोरों के दास बनने से मरना बेहतर है. पीटीआई नेता फवाद चौधरी ने कहा कि पार्टी इस्लामाबाद में लॉन्ग मार्च की डेट चेंज करती रहेगी. इस साल की शुरूआत में अविश्वास प्रस्ताव के जरिए बाहर किए जाने के बाद पीटीआई अध्यक्ष इमरान खान का इस्लामाबाद की ओर यह दूसरा मार्च है.