जर्मनी में आतंकी साजिश का पर्दाफाश, 25 लोग गिरफ्तार

Story by  राकेश चौरासिया | Published by  [email protected] • 1 Months ago
जर्मनी में आतंकी साजिश का पर्दाफाश, 25 लोग गिरफ्तार

लंदन.

जर्मनी में एक सेवानिवृत्त सैन्य कमांडर और अल्टरनेटिव फॉर ड्यूशलैंड (एएफडी) के पूर्व सांसद समेत 25 लोगों को राज्य के तख्तापलट और आतंकवादी साजिश रचने के शक में हिरासत में लिया गया है. द गार्जियन के मुताबकि, हजारों पुलिसकर्मियों ने बुधवार सुबह पूरे जर्मनी में धुर-दक्षिणपंथी रिंग के सिलसिले में छापेमारी की. फेडरल प्रोसिक्यूटर ने कहा कि 3 हजार अधिकारियों ने ग्रुप के खिलाफ जर्मनी के 16 राज्यों में से 11 में 130 साइटों पर छापेमारी की.

रिपोर्ट में कहा गया है कि इसके सदस्य क्यूएनॉन कल्ट और सो-कॉल्ड रीच सीटिजन आंदोलन समेत साजिश के सिद्धांतों की प्लानिंग करते हैं. प्रोसिक्यूटर ने कहा कि 22 जर्मनी के नागरिकों को आतंकवादी संगठन की सदस्यता लेने के संदेह में हिरासत में लिया गया था. द गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, एक महिला रूसी नागरिक समेत तीन अन्य पर आतंकी संगठन का समर्थन करने का शक था.

डेर स्पीगेल ने बताया कि सर्च किए गए स्थानों में कैल्व के दक्षिण-पश्चिमी शहर में जर्मनी की विशेष बल इकाई केएसके के बैरक शामिल हैं. कुछ सैनिकों द्वारा यूनिट की अतीत में छानबीन की गई थी. फेडरल प्रोसिक्यूटर ने इस बात की पुष्टि या खंडन करने से इनकार कर दिया कि बैरकों की तलाशी ली गई थी.

प्रोसिक्यूटर का कहना है कि जर्मनी के अलावा एक व्यक्ति को ऑस्ट्रिया के किट्जबेल शहर और दूसरे को इटली के पेरुगिया से हिरासत में लिया गया था. जर्मन मीडिया ने 71 वर्षीय ग्रुप रिंगलीडर्स हेनरिक की कुलीन परिवार के वंशज के रूप में पहचान की है, जो 12वीं शताब्दी में पूर्वी जर्मनी के कुछ हिस्सों पर शासन करते थे.

पिछले साल इस जोड़ी ने जर्मनी में मौजूदा राज्य व्यवस्था को पलटने के लक्ष्य के साथ एक आतंकवादी संगठन की स्थापना की और इसे खुद के राज्य के रूप में बदल दिया जो पहले से ही स्थापित होने की प्रक्रिया में था. द गार्जियन के मुताबिक, सैन्य तख्तापलट की योजना बनाने के प्रभारी रुडिगर वॉन पी के साथ हेनरिक ने जर्मनी के भविष्य के राजनीतिक क्रम की मैपिंग की थी.

समाचारपत्र डाई जीट ने एक रिपोर्ट में कहा है कि ग्रुप ने तख्तापलट के बाद की सरकार के लिए मंत्रियों को नामांकित करना भी शुरू कर दिया था, जिसमें संदिग्धों में से एक 58 वर्षीय पूर्व एएफडी सांसद बिरगिट मलसैक-विंकमैन को न्याय के लिए फेडरल मंत्री होना था.