मशीनों से गढ़ी जाने लगीं फिरोजाबादी चूड़ियां, बढ़े रोजगार के अवसर