एमएसओ की पहल: पढ़ाई का माहौल बनाने को सितारगंज जामा मस्जिद में लाइब्रेरी की स्थापना

Story by  मलिक असगर हाशमी | Published by  [email protected] • 10 Months ago
 एमएसओ की पहल: पढ़ाई का माहौल बनाने को सितारगंज जामा मस्जिद में लाइब्रेरी की स्थापना

आवाज द वाॅयस / नई दिल्ली

मुस्लिम स्टूडेंट्स  ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया एमएसओ मुस्लिम छात्रों की तालीमी तरक्की के लिए लगातार कोशिश कर रहा है. इस कड़ी में एमएसओ ने सितारगंज जामा मस्जिद में मिनी लाइब्रेरी स्थापित की है. इसमें छात्रों व आम लोगों के लिए किताबें उपलब्ध कराई गई हैं.

इस बारे में मुस्लिम स्टूडेंट्स ऑर्गेनाइजेशन ऑफ इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना मोहम्मद मुदस्सिर ने बताया कि संस्था अब तक कई मस्जिदों और कैंपसों में मिनी लाइब्रेरी स्थापित कर चुकी है. उनका मकसद लोगों में तालीमी बेदारी लाना है. इसके अलावा छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के प्रति माहौल बनाना है. इससे नौजवानों का भविष्य उज्जवल होगा.

उन्होंने बताया, जहां भी मिनी लाइब्रेरी स्थापित की गई है, वहां मजहबी के अतिरिक्त विज्ञान एवं समाजशास्त्र सहित दूसरी विषयों की किताबें रखी जाती हैं.सितारगंज में मिनी लाइब्रेरी की स्थापना पर आयोजित कार्यक्रम में मुबीन अहमद जामई ने कहा कि मजहबी लोग जैसी किताबें पढ़ते हैं, वैसे लिटरेचर ज्यादा रखे जाते हैं.वे मजहब और कौम की तरक्की चाहते हैं.

उन्होंने लाइब्रेरी के बारे में बताया कि ऐसी जगह अभिभावक भी अपने बच्चे भेजना पसंद करते हैं. लाइब्रेरी में आने से बच्चों में पढ़ने की आदलत प्रबल होती है. उनकी तर्बीयत भी अच्छी होती है.

कार्यक्रम में मुफ्ती मोहम्मद कासिम मिस्बाही ने लोगों से यहां आने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि जो लोग लाइबेरी में आएंगे वे पुस्तक के अध्ययन से लाभान्वित होंगे.

प्रोग्राम की अध्यक्षता मौलाना आरिफ कादरी वाहिदी अध्यक्ष एमएसओ उत्तराखंड ने की. कार्यक्रम का समापन मुफ्ती मोहम्मद कासिम मिस्बाही की दुआ से हुआ. प्रोग्राम में मौलाना तस्लीम अजहरी,मौलाना आरिफ नूरी, हाफिज यूसुफ वाहिदी, मोहम्मद ताबिश वाहिदी, मोहम्मद आतिफ,मोहम्मद आरिफ सेक्रेटरी जामा मस्जिद समेत इलाका के लोग मौजूद रहे.