पूर्व आईपीएस भास्कर राव आम आदमी पार्टी में हुए शामिल

Story by  एटीवी | Published by  [email protected] • 9 Months ago
पूर्व आईपीएस भास्कर राव आम आदमी पार्टी में हुए शामिल

नई दिल्ली. पंजाब विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज करने के बाद आम आदमी पार्टी की नजरें इस साल के अंत में होने वाले गुजरात और 2023 के कर्नाटक विधानसभा चुनाव पर हैं. इसी क्रम में बेंगलुरु के पूर्व पुलिस आयुक्त एडीजी रैंक के आईपीएस अधिकारी भास्कर राव ने दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है.

 

सदस्यता के दौरान दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया मौजूद रहे, मनीष सिसोदिया ने कहा कि, दिल्ली और पंजाब में आम आदमी पार्टी के सरकारों के काम जो देश में दिखाई दे रहे हैं. उसको देखते हुए देश में एक नई ऊर्जा जग रही है. केजरीवाल जी ने खुद पंजाब चुनाव के बाद लोगों से यह अपील की थी कि यदि किसी ने शिक्षा व अन्य मुद्दों पर काम नहीं किया तो वह आगे आएं और हमारे साथ जुड़ें.

 

मुझे खुशी है कि कर्नाटक में भी इसकी पहल दिखाई दे रही है और कर्नाटक के वरिष्ठ आईपीएस ऑफिसर भास्कर राव नौकरी छोड़ हमारी पार्टी में शामिल हो रहे हैं. आईपीएस के नौकरी करने के दौरान वह दिल्ली आते जाते रहे और यहां का काम देख खुश हुए.

 

उन्होंने आगे बताया कि, पार्टी में शामिल होने से पहले वह बेंगलुरु के पुलिस आयुक्त रहे और कोविड के दौरान उन्होंने सरकारों को फेल होते देखा तो पुलिस के नौकरी करते हुए उन्होंने जनता की सेवा करने की कमान संभाली. जो काम सरकारों को करना था वह इन्होंने किया.

 

दरअसल भास्कर राव ने सितंबर 2021 में अपने पद से इस्तीफा दिया और कर्नाटक सरकार ने 1 अप्रैल 2022 को उनका इस्तीफा स्वीकार किया है. बेंगलुरु के मूल निवासी राव ने सबसे पहले बेंगलुरु शहर के पुलिस आयुक्त, बेंगलुरु ग्रामीण एसपी और आयुक्त, परिवहन विभाग के रूप में कार्य कर चुके हैं.

 

इसके बाद भास्कर राव ने मीडिया के सामने अपनी बात रखते हुए कहा कि, दिल्ली में नौकरी नहीं की है मैंने लेकिन 32 साल की नौकरी में मैं लेक्च रर रहा हूं, आर्मी में में भी काम किया है. दिल्ली में मैंने बदलाव देखा, मेरे कई साथी यहां काम करते. एक दिन मैंने दिल्ली का स्कूल देखा और मुझे यकीन नहीं हुआ कि सरकारी स्कूल ऐसा भी हो सकता है.

 

एक आम व्यक्ति को जरूरत है एक अच्छी शिक्षा और स्वास्थ्य की जिसे केजरीवाल जी ने बहुत अच्छे से कर दिखाया है. वह यहां तक बड़े संघर्षों के साथ पहुंचे हैं और उनके जीवन से काफी प्रभावित हूं. वह हमेशा ईमानदारी की बात करते हैं यही देख पंजाब के लोग भी प्रभावित हुए. और कर्नाटक में भी आम व्यक्ति अब बदलाव चाहता है.

 

उन्होंने आगे कहा कि, कर्नाटक में हमेशा लोग बदलते हैं लेकिन स्थिति वही रहती है लेकिन यह पार्टी व्यवस्था में जो बदलाव लाया है खासतौर पर शिक्षा के केंद्र में. इसी तरह की सरकार सारे हिंदुस्तान में चाहिए.

 

उनके पार्टी में शामिल होने के बाद यह कयास लगाए जा रहे हैं कि भास्कर राव बेंगलुरू की बसवनगुडी सीट से 2023 का विधानसभा चुनाव लड़ सकते हैं. भास्कर राव ब्राह्मण जाति से आते हैं, इसलिए पार्टी उनके जरिए जाति विशेष के वोटरों को साधने की पूरी कोशिश करेगी.