मंत्रिपरिषद की बैठक में पीएम ने दी मंत्रियों को नसीहत, एनएसए के सुझाव को न करें नजरअंदाज

Story by  मंजीत ठाकुर | Published by  [email protected] • 4 Months ago
प्रधानमंत्री, एनएसए अजित डोभाल और विदेश मंत्री एस. जयशंकर (फाइल तस्वीर)

आवाज- द वॉयस/ एजेंसियां

प्रधानमंत्र नरेंद्र मोदी ने सभी मंत्रियों और सचिवों से कहा है कि वे राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद सचिवालय के बैकग्राउंड नोट्स या अन्य किसी सूचना या संदेश को नजरअंदाज न करें. प्रधानमंत्री ने कहा कि राष्टीय सुरक्षा सलाहकार की तरफ से आई सूचनाओं को गंभीरता से लें. 

हिंदी अखबार दैनिक भास्कर ने इस बारे में रिपोर्ट में लिखा है कि प्रधानमंत्री मोदी ने इस बात पर जोर दिया कि कोई भी नीति बनाते समय उन्हें भारत के रणनीतिक दृष्टिकोण से देखने की जरूरत है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में यह बात कही है. 

गौरतलब है कि शुक्रवार को हुई मंत्रिपरिषद की मैराथन बैठक पांच घंटे तक चली. इसमें केंद्र सरकार के सभी विभागों के सचिव भी शामिल हुए थे. प्रधानमंत्री मोदी ने सभी मंत्रियों और सचिवों से कहा कि कई मौकों पर राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के नोटों को उचित अहमियत नहीं दी गई. 

दैनिक भास्कर के अनुसार, इस बैठक में प्रधानमंत्री मोदी के निर्देश पर डिप्टी एनएसए विक्रम मिश्री ने सचिवालय के बारे में एक प्रेजेंटेशन भी दिया. यह प्रेजेंटेशन दुनिया भर में आ रहे बदलावों को लेकर था जिसमें यूरोप, अमेरिका और रूस में तथा उन परिवर्तनों के भारत पर पड़ने वाले प्रभावों के बारे में जानकारी दी गई थी.