फीफा 2022 : बेल्जियम पर मोरक्को की ऐतिहासिक जीत, भावुक हुए हकीमी

Story by  ओनिका माहेश्वरी | Published by  onikamaheshwari • 1 Months ago
बेल्जियम पर मोरक्को की ऐतिहासिक जीत(फीफा 2022): भावुक हुए खिलाड़ी अचरफ हकीमी स्टैंड

आवाज द वॉयस/ नई दिल्ली

मोरक्को फुटबॉल टीम ने फीफा वर्ल्ड कप 2022 (FIFA World Cup 2022) में बेल्जियम पर ऐतिहासिक जीत दर्ज की जिसके बाद उसके भावुक खिलाड़ी अचरफ हकीमी स्टैंड में अपनी मां के पास गए और उन्हें चूमकर अपनी शर्ट भी दी. कतर में चल रहे फीफा विश्व कप के ग्रुप एफ के अहम मुकाबले में मोरक्को ने बेल्जियम को 2-0 से हरा दिया. ये इस टीम के लिए एक ऐतिहासिक जीत मानी जा रही है.

कुछ देर बाद अचरफ हकीमी ने भी इन तस्वीरों को अपने ट्विटर अकाउंट से पोस्ट किया और अरबी भाषा में लिखा 'आई लव यू मॉम'.

अचरफ हकीमी का जन्म मैड्रिड, स्पेन में मोरक्को के माता-पिता के घर हुआ था, लेकिन उन्होंने फुटबॉल खेलने के लिए अपने मूल मोरक्को को चुना. अचरफ हकीमी वर्तमान में फ्रांसीसी फुटबॉल क्लब पेरिस सेंट-जर्मेन (पीएसजी) के नियमित खिलाड़ियों में से एक हैं और पहले प्रसिद्ध क्लब रियल मैड्रिड और इतालवी क्लब इंटर मिलान के लिए भी फुटबॉल खेलते थे. 

मोरक्को की महज तीसरी जीत

मोरक्को टीम की वर्ल्ड कप के इतिहास में यह महज तीसरी जीत है. मोरक्को को पहली जीत साल 1986 में मिली थी, तब उसने पुर्तगाल को 3-1 से हराया था. इसके बाद साल 1998 में उसने स्कॉटलैंड को 3-0 से हराकर दूसरी जीत हासिल की. इस जीत के साथ मोरक्को ग्रुप-एफ में ;चार अंकों के साथ टॉप पर आ गया है. वहीं बेल्जियम तीन प्वाइंट के साथ दूसरे और क्रोएशिया एक अंक लेकर तीसरे पायदान पर है. कनाडा का खाता नहीं खुला है.

गौरतलब है कि कतर में चल रहे फीफा विश्व कप मैच में रविवार को बेल्जियम पर मोरक्को की जीत के बाद हिंसा भड़क गई. इसके बाद बेल्जियम पुलिस ने एक दर्जन लोगों को हिरासत में लिया और एक को गिरफ्तार किया. वहीं प्रदर्शनकारियों ने ब्रुसेल्स में एक कार और कुछ इलेक्ट्रिक स्कूटरों में आग लगा दी. दंगे बेल्जियम की राजधानी ब्रीसेल्स में कई जगहों पर हुए. हिंसा करने वाले फुटबॉल फैंस में कई मोरक्को के झंडे लिए हुए थे. वहीं लोगों पर काबू पाने के लिए पुलिस ने पानी की बौछारें और आंसू गैस के गोले दागे.