कर्नाटकः हिजाब विवाद के बाद भी बारहवीं की परीक्षा में बाजी इलहाम के हाथ

Story by  मंजीत ठाकुर | Published by  [email protected] • 7 Months ago
मेंगलूरू की इलहाम

मंजीत ठाकुर/ नई दिल्ली

शनिवार को जब पीयू की परीक्षा के नतीजे आए तो उसमें करीब 62 फीसद छात्र पास हुए लेकिन इस बार भी लड़कियों ने लड़कों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है. इनमें सेंट अलॉयसियस पीयू कॉलेज की दो लड़कियां हैं. पीयू कॉलेज, मंगलुरु ने साइंस में पहला और दूसरा कॉमर्स में दूसरा स्थान हासिल किया है. परीक्षा देने वाले कुल 5,99,974 छात्रों में से 4,02,697 उत्तीर्ण हुए हैं. सबसे अधिक विज्ञान के छात्र पास हुए हैं.

पीयू एजुकेशन बोर्ड के एक बयान में, नतीजों के मामलें में दक्षिण कन्नडा और उडुपी जिले टॉप पर हैं. दक्षिण कन्नड़ जिले में सबसे अधिक 88.02 फीसद छात्र उत्तीर्ण हुए हैं. और यहां, सेंट अलॉयसिस पीयू कॉलेज की सुश्री इलहाम ने कुल 600 अंकों में से 597 अंक हासिल किए हैं. जबकि अनीशा माल्या को 595 अंक मिले हैं.

इलहाम विज्ञान की छात्रा हैं जबकि अनीशा बीएसबीए वाणिज्य की छात्रा हैं. और परीक्षा में अपनी कामयाबी को लेकर दोनों बेहद रोमांचित हैं, क्योंकि दोनों की इस कामयाबी से कॉलेज, अभिभावकों और दोस्तों का सिर गर्व से ऊंचा हो गया है.

इलहाम ने एक स्थानीय वेबसाइट से बातचीत में कहा, “मुझे इस बात का भरोसा ही नहीं हो रहा है. जब रिश्तेदारों ने फोन पर बताया कि मुझे पीयूसी साइंस में दूसरा रैंक मिला हो तो मैं झूम उठी. 600 में से 597 अंक लाने से मैं काफी रोमांचित हूं. मुझे लगता है रात-रात भर जागकर कड़ी मेहनत करके पढ़ने से ही यह नतीजा मिला है. ”

अब इलहाम के माता और पिता दोनों फख्र महसूस कर रहे हैं क्योंकि उनकी बिटिया ने नतीजा शानदार हासिल किया है. इलहाम के पिता मोहम्मद रफीक खाड़ी के देश की आइटी कंपनी से रिटायर हो चुके हैं, जबकि उनकी मां मोइजातुल कुब्रा एक गृहिणी हैं. उनकी एक और बेटी हैं और नुहा सेंट अलॉयसिस कॉलेज बीएससी बायोटेक की छात्र हैं. इलहाम का भाई मोहम्मद अकरम अभी सातवीं का छात्र हैं.

उधर अनीशा खुद भी अपने बेहतरीन प्रदर्शन के काफी खुश हैं. वह कहती हैं, अकादमिक शिक्षा के अलावा भी उनके कॉलेज ने को-क्युरिकल एक्टिविटीज में उनको काफी मौके मुहैया कराए हैं. अनीशा आगे वाणिज्य में ही पढ़ाई जारी रखना चाहती हैं.

अनीशा के पिता आई फर्म में नौकरी करते हैं जबकि उनकी मां भी गृहिणी हैं. वह माता-पिता की इकलौती संतान हैं ऐसे में बेटी की कामयाबी ने उनका सर ऊंचा कर दिया है.

इलहाम और अनीशा की कामयाबियों पर सेंट अलॉयसिस पीयू कॉलेज के प्रिंसिपल भी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं. उनके मुताबिक, महामारी के दौर के बाद, इतनी बड़ी उपलब्धि हासिल करना आसान नहीं है.

गौरतलब है कि कला में सूबे भर में 2,27,929 छात्र परीक्षा में बैठे जिनमें से 1,11,032 छात्र उत्तीर्ण हुए. वाणिज्य में 2,45,350 छात्र परीक्षा में शामिल हुए और उनमें से1,59,409 छात्र उत्तीर्ण हुए. विज्ञान में कुल2,10,284 छात्रों ने परीक्षा दी और कुल 1,52,525 परीक्षा में उत्तीर्ण हुए.

इस साल के अकादमिक सत्र में कुल 6,84,255 छात्र पंजीकृत थे. राज्य में कुल1,076 केंद्रों पर परीक्षा आयोजित की गई थी. अप्रैल 23 से 18 मई के बीच आयोजित इस परीक्षा में बहुत सारे छात्राएं हिजाब विवाद की वजह से परीक्षा में शामिल नहीं हो पाई थीं.